आजादी के गीत हिन्दी साहित्य के श्रेष्ठतम राष्ट्रवादी गीत

15 अगस्त 1947

सुमित्रानन्दन पंत
स्वरः नरेश भारतीय


अरुण यह मधुमय देश हमारा

जयशंकर प्रसाद
स्वरः ललित मोहन जोशी


प्रयाण गीतः वीर तुम बढ़े चलो

सोहन लाल द्विवेदी
स्वरः निखिल कौशिक


खूब लडी मरदानी वो तो झाँसी वाली रानी थी

सुभद्रा कुमारी चौहान
स्वरः कैलाश बुधवार


यह भारतवर्ष हमारा है, हमको प्राणों से प्यारा है

सोहन लाल द्विवेदी
स्वरः नरेश कौशिक


चल मरदाने सीना ताने

हरिवंश राय बच्चन
स्वरः कृष्ण त्यागी


भारती वंदनाः भारती जय विजय करे

सूर्यकांत त्रीपाठी निराला
स्वरः दिव्या माथुर


जहाँ डाल डाल पर सोने की चिडिया करती हैं बसेरा

राजेंद्र कृष्ण
स्वरः तेजेंद्र शर्मा


Comments

comments

Tagged: , , , , , , , ,